|| motivational || inspirational || प्रकृति के कड़वे नियम ||

प्रकृति के तीन कड़वे नियम जो सत्य हैं।

motivational-inspirational-short-story
प्रकृति के कड़वे नियम

प्रकृति का पहला नियम


यदि खेत मे बिज न डाले जाय तो कुदरत उसे घास फुस से भर देती है। ठीक उसी तरह से दिमांग में सकारात्मक विचार न भरे जाऐ तो नकारात्मक विचार अपनी जगह बना ही लेती है।


प्रकृति का दूसरा नियम


जिसके पास जो होता हैं वह वही बाटता है
शुखी शुख बाटता है
दुखी दुख बाटता है
ज्ञानी ज्ञान बाटता है
भ्रमित भ्रम बाटता है
भयभीत भय बाटता है

प्रकृति का तीसरा नियम


आपको जीवन से जो कुछ मीले उसे पचाना सीखो क्योकि भोजन न पचने पर रोग बढ़ते है।
पैसा ना पचने पर दिखावा बढ़ता है
बात ना पचने पर चुगली बढ़ती है
प्रशंसा ना पचने पर अहंकार बढ़ता है
निंदा ना पचने पर दुश्मनी बढ़ती है
राज ना पचने पर खतरा बढ़ता है
दुःख ना पचने पर निराशा बढ़ती है
शुख ना पचने पर पाप बढ़ता है

यह भी पढ़े - सफलता कैसे मिलती है
|| motivational || inspirational || प्रकृति के कड़वे नियम || || motivational || inspirational || प्रकृति के कड़वे नियम || Reviewed by Motivational stories in hindi on दिसंबर 04, 2018 Rating: 5

book

Blogger द्वारा संचालित.