Very short motivational inspirational story || ये कहानी जो समझ गया हर वक्त खुश ही रहेगा ||

Very short motivational inspirational story || ये कहानी जो समझ गया हर वक्त खुश ही रहेगा || 


सिकंदर उस जल के तलास में था जिसे पीने से मानव अमर हो जाते है। काफी दिनों तक दुनिया मे भटकने के पस्चात आखिर कर उसने ओ जगह पा ली जहा उसे अमृत की प्राप्ति हो सके उसके सामने ही अमृत जल बह रहा था। वह अंजुली में अमृत जल पीने को झुका ही था तभी एक बुढा व्यक्ति उस गुफा के अंदर बैठा था।
very short motivational story in hindi
Sikandar

 और वो जोर से बोला रुक जा ये भूल मत करना बड़ी दुर्गति की अवस्था मे था वह बुढा सिकंदर ने कहा तू रोकने वाला कौन है। और बुढे ने उत्तर दिया मैं अमृत की तलाश में था। और ये गुफा मुझे भी मिल गयी थी मैने ये अमृत पी ली थी अब मैं मर नही सकता  पर अब मैं मरना चाहता हु। देख लो मेरी हालत अंधा हो गया हूं । पैर गल गए देखो अब मैं चिल्ला रहा हु चीख रहा हु कोई मुझे मार डाले पर मुझे मार भी नही जा सकता अब मैं प्रार्थना कर रहा हु परमात्मा से की प्रभु  मिझे मौत दे।

सिकंदर चुप चाप गुफा से बाहर लौट आया बिना अमृत पिये सिकंदर समझ चुका था कि जीवन का आनंद उस समय तक होता जब तक आनंद भोगने की इस्थिति में रहता इस लिए दोस्तो स्वस्थ की रक्छा कीजिये जितना जीवन मिला है उतना में ही खुश रहिये दुनिया मे सिकंदर कोई नही वक्त ही सच्चा सिकंदर है।
Very short motivational inspirational story || ये कहानी जो समझ गया हर वक्त खुश ही रहेगा || Very short motivational inspirational story || ये कहानी जो समझ गया हर वक्त खुश ही रहेगा || Reviewed by Brijesh kumar on नवंबर 26, 2018 Rating: 5
#
Blogger द्वारा संचालित.