Motivational stories || दिल मे माफ करने की जगह हमेशा रखना ||

Motivational stories || दिल मे माफ करने की जगह हमेशा रखना ||


किसी ने बहुत बढ़िया बात कही है। कद्र होती है इंसान की जरूरत पड़ने पर ही। वरना बिना जरूरत के तो हिरे भी तिजोरी में रखे रहते है।

short motivational stories
Motivational

एक बार की बात है एक बड़ा अच्छा राज्य उसका बड़ा अच्छा राजा बहु सारि अच्छाइयों के बीच मे उसकी एक बुराई थी एक समश्या थी। जहा जिसने राज्य में कोयी गलती की उसको तुरंत दस खूंखार कुत्तो के बीच फेकने का आदेश देता था उसने एक बाडे में दस खूंखार कुत्ते पाल रखे थे।

 जो सजा देने के काम आते थे इस बात से हर कोई परेसान था। समझ नही पा रहे थे कि राजा साहब को बड़ा गुस्सा आता है।एक मंत्री विश्वस्नी मंत्री राजा का जिसपे बहुत भरोशा करता था। मंत्री वो भी सोचता था। की क्या करे क्या उपाय निकाले एक दिन उसी मंत्री से गलती हो गयी। उसको एक आदेश फॉलो करवाने को कहा उसने नही करवाया राजा ने बुलाया दरबार मे।

बेइज़्जत करने लगे राजा साहब और राजा ने आदेश दिया सैनिको को जाओ इसको दस खूंखार कुत्तो के सामने फेक दो इसको। मंत्री ने कहा महाराज सोच लीजिये आपकी सेवा की है। थोड़ा तो सोच लीजिये एक बार माफ कर दीजिए। राजा बोले नही जो आदेश जनता के लिए है ओ तुम्हारे लिए भी है। तो उसने कहा महराज आखिरी इच्छा तो सुन लीजिए। राजा ने कहा सुनाओ तो मंत्री ने बोला कि मुझे दस दिन की मोहलत दीजिये और मुझे कुछ नही चाहिए ।

राजा ने सोचा मंत्री अपने साथ रहा है इतने वक्त तक काम किया है तो राजा ने दस दिन की मोहलत दे दी अब ओ दस दिन तक मंत्री कही गायब हो गया। राजा को लगा कि अब वो वापस आएगा कि नही आएगा ग्यारहवें दीन मंत्री दरबार मे वापस आया। बोला कि महाराज आप जो सजा देना चाहते है। मैं भुगतने के लिए तैयार हु राजा ने कहा सैनिको से ले जाओ उसको बाड़े में। मैं भी आता हूं पीछे पीछे राजा साहब पहुचे बाड़े का दरवाजा खोला गया मंत्री को अंदर भेज गया ओ जो दस खूंखार कुत्ते थे।

बनके भी दरवाजा खोला गया पिंजरे का ओ भी बाहर निकल के आये।लेकिन राजा देखता है कि ओ जो दस खूंखार कुत्ते थे की उसपे अटैक करने के बजाय टूट पड़ने के बजाय उसको प्यार करने लगे चाटने लगे जो कुत्ते थे। राजा को समझ नही आया हो क्या गया जिनको ट्रेन किया गया कि उनको सजा दे ओ उसको प्यार कर रहे है।

 जोर की आवाज दी मंत्री जी ये चमत्कार कैसे हो रहा है। मंत्री कहा महराज पास बुलाओ तो मैं अपनी बात बताऊ पास बुलाया गया तो मंत्री ने बताया आपने जो मुझे दस दिन की मोहलत दी थी। उन दस दिनों में मैने उन जानवरो की खूब सेवा की खाना खिलाया प्यार किया नहलाया इनको । उन उन दस दिनों में इनका स्वभाव मेरे लिए बदल गया। लेकिन आप जो की बरसो से आपकी सेवा कर रहा हु। लेकिन आपको मुझपर इतना गुस्सा आ गया की आप मुझे मौत की सजा देने के लिए तैयार थे।

एक छोटी सी कहानी बताती है कि हमारी जिंदगी में ऐसे कई लोग है जिनकी बहुत सारी अच्छाइयां रही है। लेकिन एक जहा उन्होंने गलती की हम उन्हें ऐसे देखने लगते है। ऐसी नजर से देखने लगते। जैसे उन्होंने बहुत बड़ा पाप कर दिया हो माफ करना सीखिये दुनिया की बहुत बड़ी कला है।

||कर दिखाओ कुछ ऐसा की दुनिया करना चाहे आपके जैसा||
Motivational stories || दिल मे माफ करने की जगह हमेशा रखना || Motivational stories || दिल मे माफ करने की जगह हमेशा रखना || Reviewed by Motivational stories in hindi on नवंबर 15, 2018 Rating: 5

book

Blogger द्वारा संचालित.